The Nine Emotions (Navarasa)

This categorization is given in ancient Sanskrit text 'Natyashastra'

सवाल

तुझमें भी वो ख़ुदा है। मुझमें भी वो ख़ुदा। क्यों लड़ रहा ख़ुदा है?

वो एक शख़्स

अब कहाँ हम अपने दुख किसी से कह सकते हैं अब कहाँ हम किसी के आंसुओं में बह सकते...

यादें

दिल की सीपी में बंद यादाें के माेती पलकाें से उफनते सागर में बहाओगे कैसे?

भटकता हुआ मेरा मन

जिंदिगी की दौड़ धूप में हम सब भाग रहे हैं सुबह शाम, आज का एक जाम हमारे देश के...

बेचारा अधिकारी

सुन लो मेरे साथियो, एक बात जरूरी। कर नहीं सकता कुछ, अब है मजबूरी॥ पढ़...

खुली आंखो का सपना

ये काम बनाने का आइडिया किसी के मन में आया तो होगा, जिसने इस कागज के टुकड़े को पैसा बनाया होगा

POET OF THE DAY

POEM OF THE DAY

LATEST POEMS

FEATURED POEMS

MOST LIKED